Maya Teri Ram Lyrics | Narci | New Hindi Bhakti Rap Song

Song: Maya Teri Ram
Rap & Lyrics: Narci
Singer: Late Shree Rajeshwaranand Ji Maharaj
Music & Arrangement: Narci
Mixing & Mastering: XZEUS

Maya Teri Ram Lyrics | Narci | New Hindi Bhakti Rap Song

Maya Teri Ram Lyrics | Narci


Maya Teri Ram Lyrics

Ye maya teri
Ye maya teri

mrityu dekhta hai auron ki
roz savere sham, bhavan banaata
aise jaise, har dam yahan muqaam

ye maya teri
bahut kathin hai ram
ye maya teri
bahut kathin hai ram
bahut kathin hai ram
bahut kathin hai ram
bahut kathin hai ram
bahut kathin hai ram

ye maya teri

mere prabhu teri duniya ye ajeeb dekhi
jise choome paisa uske hi kareeb dekhi
usse bheed ghere jo bhi karta vaade jhoothe
sacche dilon ko na poochti hai bheed teri
prabhu maana paisa karta thoda dvesh hai
aadmi ko kheenche manohari bhes mein
log bole bhaagon na ye moh maya hai
yehi moh maya par khana rakhti mez pe
deke sau salahein yahan duniya maana bhaunkati
baatein kare ram ki aur bedi pehne dhong ki
prabhu ne banai ye moh maya soch ke
zimmedari praani kaise chor dega naukari
teri si maya se main door kaise jaagun?
dhaage majbooriyon ke tale main to naachun
bharta pet paisa jab saare parivaar ka
teri is maya se main door ksise bhaagun?
moh maya buri na hai buri praani soch
bura na kamana par khona nahi hosh
meri kya aukaat main to doshon se hi bhara hoon
aapki hi kripa hai jo dekhte na dosh
prabhu teri kripa rahe saaro ke hi ghar pe
daas tera khada prabhu aage tee dar ke
yachika hai meri bas yehi mere ram
paisa rahe jeb mein na kabhi chadhe sar pe

ye maya teri
bahut kathin hai ram
ye maya teri
bahut kathin hai ram
bahut kathin hai ram
bahut kathin hai ram
bahut kathin hai ram
bahut kathin hai ram
ye maya teri

karta nitya virodh krodh ka
kehta bura parinaam
hota krodhit swyam to hoti
vaani bina lagaam

ye maya teri
bahut kathin hai ram
ye maya teri
bahut kathin hai ram

prem bhool baithey bhaavon ke ye sath khele
baatein badi karte leke yahan saat phere
tabhi tere bina kisi se umeed na
chhupe nahi aap se neki aur paap mere
aata hai vivaadon mein prabhu tera naam kyun?
tere hi ye praani prabhu karte aisa kaam kyun?
treta waale ram ko to bhool baithey praani
khud ke hi vichaaron se ye rache khud ka ram kyun
jaane nahi maya ka haan bhaag waise poora
khud paise peeche dekho bhaag rahe poora
logon ki zubaan baat aisi karti maya ki
jaise duniyadaari ko ye tyag baithey poora
aaj baithey poora ye gyan dete ram ka
samjhe na jo kabhi naam mere priy ram ka
khud ko hi na saka poora tu pehchaan
gyan bhaari maya ka hai kaahe praani baantata?
moh maya buri na hai buri praani soch
bura na kamana par khona nahi hosh
auron ka haan praani waise kehna hai aasan
par khud pe kitna kaabu karte jab bhi aata rosh
saaf dil waalon ka haan khana mile bhar ke
soye nahi bhookha hai prabhu tere dar pe
yachika hai meri bas yehi mere ram
paisa rahe jeb mein na kabhi chadhe sar pe

ye maya teri
bahut kathin hai ram
ye maya teri
bahut kathin hai ram
bahut kathin hai ram
bahut kathin hai ram
bahut kathin hai ram
bahut kathin hai ram

ye maya teri
ye maya teri
ye maya teri
ye maya teri
ye maya teri
ye maya teri

माया तेरी राम लिरिक्स

ये माया तेरी
ये माया तेरी

मृत्यु देखता है औरों की
रोज सवेरे शाम, भवन बनाता
ऐसे जैसे, हर दम यहाँ मुकाम

ये माया तेरी
बहुत कठिन है राम
ये माया तेरी
बहुत कठिन है राम
बहुत कठिन है राम
बहुत कठिन है राम
बहुत कठिन है राम
बहुत कठिन है राम

ये माया तेरी

मेरे प्रभु तेरी दुनिया ये अजीब देखी
जिसे छूमे पैसा उसके ही करीब देखी
उससे भीड़ घेरे जो भी करता वादे झूठे
सच्चे दिलों को न पूछती है भीड़ तेरी
प्रभु माना पैसा करता थोड़ा द्वेष है
आदमी को खींचे मनोहरी भेस में
लोग बोले भागों न ये मोह माया है
यही मोह माया पर खाना रखती मेज पे
देके सौ सलाहें यहाँ दुनिया माना भौंकती
बातें करे राम की और बेड़ी पहने ढोंग की
प्रभु ने बनाई ये मोह माया सोच के
जिम्मेदारी प्राणी कैसे छोड़ देगा नौकरी
तेरी सी माया से मैं दूर कैसे जागूं?
धागे मजबूरियों के तले मैं तो नाचूं
भरता पेट पैसा जब सारे परिवार का
तेरी इस माया से मैं दूर कैसे भागूं?
मोह माया बुरी न है बुरी प्राणी सोच
बुरा न कमाना पर खोना नहीं होश
मेरी क्या औकात मैं तो दोषों से ही भरा हूँ
आपकी ही कृपा है जो देखते न दोष
प्रभु तेरी कृपा रहे सारों के ही घर पे
दास तेरा खड़ा प्रभु आगे ती दर के
यचिका है मेरी बस यही मेरे राम
पैसा रहे जेब में न कभी चढ़े सर पे

ये माया तेरी
बहुत कठिन है राम
ये माया तेरी
बहुत कठिन है राम
बहुत कठिन है राम
बहुत कठिन है राम
बहुत कठिन है राम
बहुत कठिन है राम
ये माया तेरी

करता नित्य विरोध क्रोध का
कहता बुरा परिणाम
होता क्रोधित स्वयं तो होती
वाणी बिना लगाम

ये माया तेरी
बहुत कठिन है राम
ये माया तेरी
बहुत कठिन है राम

प्रेम भूल बैठे भावों के ये साथ खेले
बातें बड़ी करते लेके यहाँ सात फेरे
तभी तेरे बिना किसी से उम्मीद ना
छुपे नहीं आप से नेकी और पाप मेरे
आता है विवादों में प्रभु तेरा नाम क्यूँ?
तेरे ही ये प्राणी प्रभु करते ऐसा काम क्यूँ?
त्रेता वाले राम को तो भूल बैठे प्राणी
खुद के ही विचारों से ये रचे खुद का राम क्यूँ
जाने नहीं माया का हाँ भाग वैसे पूरा
खुद पैसे पीछे देखो भाग रहे पूरा
लोगों की ज़ुबान बात ऐसी करती माया की
जैसे दुनियादारी को ये त्याग बैठे पूरा
आज बैठे पूरा ये ज्ञान देते राम का
समझे न जो कभी नाम मेरे प्रिय राम का
खुद को ही ना सका पूरा तू पहचान
ज्ञान भारी माया का है काहे प्राणी बांटता?
मोह माया बुरी ना है बुरी प्राणी सोच
बुरा न कमाना पर खोना नहीं होश
औरों का हाँ प्राणी वैसे कहना है आसान
पर खुद पे कितना काबू करते जब भी आता रोष
साफ दिल वालों का हाँ खाना मिले भर के
सोये नहीं भूखा है प्रभु तेरे दर पे
यचिका है मेरी बस यही मेरे राम
पैसा रहे जेब में न कभी चढ़े सर पे

ये माया तेरी
बहुत कठिन है राम
ये माया तेरी
बहुत कठिन है राम
बहुत कठिन है राम
बहुत कठिन है राम
बहुत कठिन है राम
बहुत कठिन है राम

ये माया तेरी
ये माया तेरी
ये माया तेरी
ये माया तेरी
ये माया तेरी
ये माया तेरी

1 thought on “Maya Teri Ram Lyrics | Narci | New Hindi Bhakti Rap Song”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top